डोल आश्रम अल्मोड़ा उत्तराखंड का मुख्य पर्ययन व धार्मिक स्थल

Dol Ashram Almora
Dol Ashram

डोल आश्रम के नाम से प्रसिद्ध डोल कल्याणी आश्रम अल्मोड़ा से करीब 40km की दूरी पर लमगड़ा ब्लॉक के डोल गाँव में स्थित है। घने जंगलों और देवदार के वृक्षों के बीच स्थित यह आश्रम अपनी अनूठी छवि बिखेरता है।प्राकृतिक सौंदर्य का इससे अच्छा दृश्य आपको कहीं भी देखने को नहीं मिलेगा। यह इतना विशाल है कि काफ़ी दूर से ही यह आश्रम नज़र आने लगता है।यहां करीब 126 फूट ऊँचे और 150 मीटर व्यास के श्रीपीठम का निर्माण किया गया है जो कि काफ़ी विशाल है।इस श्रीपीठम में 500 से ज़्यादा लोग एक साथ ध्यान कर सकते हैं। विश्व का सबसे बड़ा श्रीयन्त्र भी यहां स्थापित किया गया है,जो कि अष्टधातु से निर्मित करीब डेढ़ टेन वज़न का है और इसकी ऊँचाई साढ़े तीन फिट है।यह आश्रम ध्यान और साधना करने का केन्द्र है। अगर आपको साधना या ध्यान करना है तो इससे अच्छी जगह आपको कहीं और नहीं मिलेगी। यहां कई छोटे बड़े मंदिर समूह हैं।यहां भगवान शिव की विशाल मूर्ति का निर्माण किया गया है। जिसमें भगवान शिव को हिमालय में साधना करते हुए दिखाया गया है। इसके प्रवेश द्वार पर एक रथ भी बनाया गया है और प्रवेश द्वार पर काफ़ी सुंदर कलाकृतियाँ भी बनायी गयी है।यह आश्रम अनूठी कला और आस्था का प्रतीक है। यहां एक संस्कृत विद्यालय भी है,जिसमें संस्कृत भाषा और वैदिक वैदिक मंत्रों का ज्ञान कराया जाता है। संस्कृत भाषा देव भाषा होने के साथ साथ भारतीय संस्कृति की भी प्रतीक है और संस्कृत भाषा को ही समस्त भाषाओं की जननी माना जाता है। इस स्थान को उत्तराखंड के पाँचवें धाम और मुख्य पर्यटन हब के रूप में विकसित किया जा रहा है।
उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी इसे ज़्यादा से ज्यादा लोगों तक शैयर करें ताकि औरों को भी इस आश्रम के बारे में पता चल सके।
धन्यवाद
Dol Ashram Almora me shiv ki murti

उत्तराखंड में कुमाऊँ का प्रसिद्ध छोलिया नृत्य की शुरुआत 

Leave a Reply