आयुर्वेदिक औषोधि:किलमोड़ा और हिसालू फल के चमत्कारी गुण

 उत्तराखंड अमृत : किलमोड़ा के फल के औषोधीय गुणों में भरपूर

उत्तराखंड और पहाड़ी इलाको में होने वाला औषोधीय गुणों से भरपूर फल
किलमोड़ा के फल

किलमोड़ा यह दिखने में सिर्फ एक कंटीली झाड़ी है,लेकिन यह औषोधि से भरपूर है। इसके जड़,तना,फल से लेकर पत्तियाँ तक सब का उपयोग औसधी के रूप में किया जाता है। लेकिन काफ़ी कम लोग इसके बारे में जानते हैं।
किल्मोड़े का वैज्ञानिक नाम बरबरिस अरिस्टाटा है। पूरे विश्व में इसकी लगभग 425 प्रजातियाँ पायी जाती हैं। इसमें मार्च अप्रैल के महीने में फूल खिलने शुरू हो जाते हैं। इसमें लगने वाला फल शुरूआत में पीला तथा स्वाद में खट्टा होता है,लेकिन पकने के बाद इसका स्वाद खट्टा मीठा हो जाता है और फल बैगनी रंग का हो जाता है। इसके पत्तियों में एंटी बैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं जो कि दाग,खुजली,फोड़े फुंसी में काफ़ी लाभदायक है। इसके जड़ो को काटकर पानी में भिगोने उसके बाद वह पानी पीने से शुगर लेवल काफी कम हो जाता है। इसका फल भी शुगर में काफ़ी लाभदायक है।इसका उपयोग मधुमेह,ब्लड प्रैशर,त्वचा रोग आदि के लिए किया जाता है। विदेशों में इससे कैंसर जैसी खतरनाख बीमारी के लिये दवा बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा काफ़ी दवाइयों में भी इसका प्रयोग किया जाता है।

उतराखंड औषोधीय :हिसालू के फल औषोधीय गुणों में भरपूर

उत्तराखंड और हिमालय के पहाड़ी इलाको में पाया जाने वाला औषोधीय गुणों से भरपूर हिसालू के फल

औषोधीय गुणों से भरपूर :हिसालू के फल

हिसालू- हिसालू कंटीली झाड़ियों में लगने वाला एक रसदार फल है,जो कि मई-जून के महीने में पकता है। इसका स्वाद मीठा और रंग नारंगी होता है। यह इतना मुलायम होता है कि जीभ में रखते ही पिघलने लगता है। इसका वैज्ञानिक नाम रूबस इलिष्टिकस है इसके अलावा इसे हिमालयन रस्पबेरी भी कहा जाता है।यह फल खाने में अच्छा होने के साथ साथ शरीर के लिए भी काफ़ी लाभदायक है। इसके फलों का रस बुखार,पेटदर्द खाँसी आदि के लिए लाभदायक होता है। इसकी जड़ों का उपयोग कई आयुर्वेदिक दवाइयों में भी किया जाता है

कैची धाम :नीम करोली बाबा का जीवन परिचय और चमत्कारी शक्ति के बारे में

अगर पहाड़ों के लोगों को इस बारे में बताया जाए तो काफ़ी लोगों को इससे रोज़गार भी मिल सकता है।उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा

रंगीलो पहाड़ फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करे –rangilopahad
रंगीलो पहाड़ व्हाट्सप्प ग्रुप जुड़ने के लिए क्लिक करे – rangilopahad
रंगीलो पहाड़ इंस्टाग्राम में जुड़ने के लिए क्लिक करे- rangilopahad

Leave a Reply

%d bloggers like this: