अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस विशेष 2020 थीम -“मेरी आवाज- हमारा सामान भविष्य”

अंतररास्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत

बालिकाएं हर घर की शान होती हैं उनका मान होती हैं उनका सम्मान होती हैं.इसी को ध्यान में रखते हुए 11 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है.इसकी शुरुआत 2012 से हुई थी संयुक्त राष्ट्र ने इसे 19दिसंबर 2011 को पारित किया था और इसके लिए 11 अक्टूबर का दिन चुना गया उस समय इसका मेन मोटिव था बाल विवाह को समाप्त करना.

लेकिन क्या आज हम सच में बालिका दिवस मनाने के लायक हैं हमारे देश में दिन प्रतिदिन लड़कियों के साथ की गई घिनौनी वारदातें सामने आ रहीं हैं क्या यही लक्ष्य है बालिका दिवस मनाने का वारदातें करने वाले खुलेआम घूमते हैं उन्हें सजा तक नहीं मिलती और चीजों के लिए तो नए नए कानून बनाए जाते हैं क्या इस पर कोई ठोस कानून नहीं बन सकता. ताकि ऐसी वारदात करने वालों की रूह तक कांप उठे और कोई ऐसा करने कि सोच भी ना सके.

क्यों आज हमारी बहन बेटियों के साथ यह सब होता है? क्यों आज हमारी बहन बेटियां बिना डरे अकेले नहीं चल सकती ? क्यों आज किसी लड़की के चेहरे पर तेजाब फेंककर  उसकी जिंदगी बरबाद कर दी जाती है? इस सब के पीछे हमारी ही मानसिकता है कि हम बेटियों को कमजोर समझते हैं.जब तक हमारी सोच नहीं बदलेगी तब तक हमारी बहन बेटियां कभी सुरक्षित नहीं रहेंगी.

प्राचीन समय में नारियों को देवी का दर्जा दिया जाता था .उनकी पूजा तक की जाती थी.लेकिन आज पूजा तो छोड़ो उन्हें जीने तक नहीं दिया जा रहा है.आज भी बेटियों को बोझ समझा जाता है.जो खुशी बेटे के पैदा होने पर घर में होती है वह खुशी एक बेटी के पैदा होने पर क्यों नहीं होती इन सब के पीछे हमारी ही मानसिकता है और कुछ नहीं हमारी छोटी सोच ही आज लड़कियों को आगे नहीं बढ़ने देती .ऐसा नहीं है कि बेटियां कुछ कर नहीं सकती आज के समय में कई कठिनाइयों के बावजूद भी बेटियां देश विदेश में परचम लहरा रही हैं चाहे वो किसी भी क्षेत्र में हो.इसलिए बालिकाओं का सम्मान करो उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा दो.पहले खुद की मानसिकता बदलो उसके बाद दूसरों की जो इस प्रकार की सोच रखते हैं.

क्या है इस बार की थीम ?

बालिका दिवस थीम -“मेरी आवाज- हमारा सामान भविष्य” इस थीम का उद्देश्य है कैसे छोटी बालिकाये जीवन में पुरे विश्व में एक मार्ग दिखने का प्रयाश कर रही है .

बेटी पर कुछ सुंदर लाइनों वाली शायरी

“देवी का रूप परिवार की मान है बेटिया परिवार के सम्मान बढाए वो चिराग है बेटिया”

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की शुभकामानाये|नमन सभी बालिकाओ को जो देश को नए मार्ग कीओर ले जा रही है ,जय हिन्द जय भारत 

यह भी जाने 

रंगीलो पहाड़ व्हाट्सप्प ग्रुप जुड़ने के लिए क्लिक करे – rangilopahad

Leave a Reply